कुछ कर जाओ या मर जाओ 😝

images.jpg

” बिना कुछ किए संसार मे रहना व्यर्थ हैं, सोते हुए जीवन बिताना मुर्दे के समान हैं, समय अब भी गया नहीं हैं, कुछ कर जाइए या सोते रहिए आपके हाथों में हैं भाग्य तभी साथ देता हैं जब मेहनत और जुनून दोनों का साथ होता हैं नही तो आसमान से ज़मीन पर गिराने में अपने भी कोई कसर नहीं छोड़ते,इस दुनियाँ में बस उन्ही के दोस्त और अपने होते हैं जो कुछ करने की काबिलीयत रखता हो,सूखे पेड़ को तो हर कोई काट के चूल्हे में जला देता हैं”

कहते हैं पिछले जन्म में बहुत अच्छे कर्म होते हैं हमारे तब जाकर मनुष्य जीवन नसीब होता है,वैसे तो पिछला जन्म किसने देखा हैं, ये सब बात सिर्फ कहने को ही होता हैं, असलियत तो हमारा आज हैं जिसे हम जी रहे है महसूस कर रहे हैं अच्छे और बुरे कर्मो के भागीदार बन रहे हैं ।

कुछ लोग इस समय को Utilise करके अपने जीवन के लक्ष्य को सफल बनाने में जुटे हैं तो कुछ औरो के काम को बिगाड़ने में इस दुनियाँ में तरह-तरह के लोग हैं जिनकी सोच सबसे अलग हैं, कोई झोपड़ी में रहकर महल बना लेते हैं तो कोई महलों से झोपड़ी में आ जाते हैं सब समय-समय का खेल हैं और अपने किये गए  संघर्ष की देन ।।

दोस्तो,वैसे तो सभी क़ामयाबी की बुलंदियों को छूना चाहते हैं उसके लिए जी तोड़ मेहनत भी करते हैं लेकिन कामयाब कोई एक ही होता हैं ,कभी सोचा है क्यों?

ALSO READ THISजब जागो,तभी सवेरा

READ  5 Indian Failures Who Became Inspirational Success Stories

जैसे कि Example ले लीजिए –

★ चाय वाला सुबह से शाम तक काम करता है तकरीबन 12 से 14 घंटे और ईसी वक़्त  किसी MULTINATIONAL COMPANY का CEO भी काम करता है समय दोनों को वही लगता है लेकिन दिन के अंत मे चाय वाले का बैंक बैलेंस 10K होता है और CEO का 10L होता हैं यहाँ मेहनत दोनों ही करते हैं लेकिन लाभ किसी एक को ही होता हैं,समय सिम वही हैं लेकिन दोनों के काम करने का तरीका अलग है जहाँ चाय वाला मात खा जाता हैं

★एक घर मे दो बच्चे हैं एक TOPPER हैं तो दूसरा ZERO मेहनत यहाँ भी दोनों बराबर करते है लेकिन इनके सोचने-समझने,याद रहने की समता अलग है

★ गरीब परिवार की बेटी IAS OFFICER बन जाती है बिना किसी उच्च साधन के,और एक सफल परिवार का बेटा साधन की कमियों का रोना रोता रहता है यहाँ कमी संस्कारों की हैं ।

कुछ कर जाओ या मर जाओ हमारे जीवन का एक लक्ष्य हैं, जब हमें ऊपर वाले ने एक नई ज़िन्दगी दी हैं, सोचने समझने की शक्ति दी हैं तो क इसे हम व्यर्थ करते हैं? औरो के लिए ना सही अपने लिए क्यों कुछ नहीं करते क्यों हमेसा अपना ही रोना रोते हैं?

ज़िन्दगी भी बड़े नसीब वालो को ही मिलती हैं, तो चलिए कुछ कर जाते हैं, अपने हर एक सपने को पूरा करने के लिए हर हद से गुजर जाते है ….अगले शन क्या होगा किसी को कुछ नहीं पता कल की सुबह होगी नहीं पता ,आज जो लोग साथ हैं कल भी हमारे साथ रहेंगे नहीं पता,लेकिन हमारा हौसला,साहस,कुछ पाने की त्रीव शक्ति आखिरी शन तक हमारे साथ रहेगी ,कुछ अपने लिए कर गुजर जाने की चाह हमेसा हममे ज़िंदा रहेगा बाद में पछताने से कही अच्छा है हमारे आज को हम सफल बनाये हमारे आने वाले कल के लिए एक नई उम्मीद जगाए ।

READ  ज़िन्दगी की सच्चाई

♂ज़िन्दगी में बिना कुछ किए रहना मरने के समान हैं, इसलिए कुछ करते रहिए अपने और दूसरों के लिए

★ अपनी शक्ति अनुसार हर संभव प्रयास करिये औरो को खुश रखने के लिए

♂अपनी हर एक इच्छा को पूरा करिये जो भी आप करना चाहते है क्यों कि ये ज़िन्दगी फिर नहीं मिलएगी

★कुछ कर जाइए या मर जाइए अपने जीवन मे अमल कीजिए

“व्यर्थ में बैठना मरने के बरोबर ही हैं “

MUST READ THIS ALSOविश्वास -एक लघुकथा

दोस्तों, मेरी ऑर्टिकल आपसबको कैसी लगी कमेंट करके बताना ना भूले और अपने दोस्तों के साथ भी जरूर SHARE करे ।।

SUBSCRIBE OUR YOUTUBE CHANNEL 👇

https://www.youtube.com/channel/UCSJxcNIXUXysAZZGYF9liRA

Posted by Anjali Pandey

Hello!Welcome to My Blog Student Rocks